Gulzar Quotes on Dosti (Friendship Shayari)

Gulzar Quotes on Dosti (Friendship Shayari): गुलजार (इन्होने अपने शब्दों के तीर से सबको मोह लिया) के द्वारा लिखे गए मित्रता पर सुविचार लोगों की मित्रता को और प्रगाढ़ करता है ऐसे सुविचार लोगों के दिल तक छू जाता है हर किसी व्यक्ति को अच्छा लगता है

गुलजार जी द्वारा लिखे गए हर शब्द में एक जादू होता है कि कोई भी व्यक्ति उनके शब्दों को पढ़कर उनका दीवाना हो जाए

तो आज हम आपके लिए इस पोस्ट में लाए हैं गुलजार जी के द्वारा लिखे गए दोस्ती पर सुविचार कविता और कोट्स हमें आशा है कि यह कोर्ट सबको पसंद आएंगी अगर आपको यह सारी चीजें पसंद आती है तो आप अपने दोस्तों से भी जरूर शेयर करें (Gulzar Quotes on Dosti)

इस पेज को बुकमार्क करें ताकि आने वाले समय में आप ऐसे ही कोट्स को पढ़ पाए जो हम इस पेज पर अपडेट करने वाले हैं तो नीचे स्क्रॉल करें और पढ़ें लाजवाब कोट्स

Top Gulzar Quotes on Dosti (Friendship Shayari)

सोचता हूँ दोस्तों पर मुकदमा कर दूँ,
इसी बहाने तारीखों पर मुलाक़ात तो होगी..!!!

सोचता हूँ दोस्तों पर मुकदमा कर दूँ,

इसी बहाने तारीखों पर मुलाक़ात तो होगी..!!!

गए थे सोचकर के बात बचपन की होगी
मगर दोस्त मुझे अपनी तरक़्क़ी सुनाने लगे
बचपन के भी वो दिन क्या खूब थे,
ना दोस्ती का मतलब था न मतलब की दोस्ती थी!!
उम्र और ज़िन्दगी में बस फर्क इतना..
जो दोस्तों बिन बीती वो उम्र
और जो दोस्तों संग गुज़री वो ज़िन्दगी
अजीब सिलसिला था वो दोस्ती का साहब…
जो कुछ दूर चला और इश्क़ में बदल गया…
बेवजह है तभी तो दोस्ती है…
वजह होती तो साजिश होती..!
फर्क है दोस्ती और मोहब्बत में…
बरसो बाद मिलने पर मोहब्बत नज़रें चुरा लेती है,
और दोस्ती गले लगा लेती है…
दुश्मनी में भी दोस्ती का सिला रहने दिया
उसके सारे खत जलाये
बस पता रहने दिया
मैंने तो बस दोस्ती मांगी थी
वो इश्क़ देकर बर्बाद कर गया
उफ़ क़यामत है उनका,
मोहब्बत भी करना चाहते हैं
वो भी दोस्ती की आड़ में…
जब दोस्त तरकी करे तो फक्र से..
कहो के वो मेरा दोस्त है..
और जब दोस्त मुसीबत में हो..
तो फक्र से कहो मै उसका दोस्त हु..!
छोटी सी बात पर नाराज़ मत होना..
भूल हो जाये तो माफ़ कर देना..
नाराज़ तब होना जब रिश्ते टूट जाये..
क्युकी ऐसा तब होगा जब हम दुनिया छोड़ देंगे..!
कोई अटका हुआ है पल शायद
वक़्त में पड़ गया है बल शायद
ये कश्मकश है, ज़िन्दगी कैसे बसर करे..
पैरो को काट फैके, या चादर बड़ी करे..!

खुशबु जैसे लोग मिले अफसाने में,

एक पुराना ख़त खोला अनजाने में!

Thanks for Reading Best Quotes on Dosti (Friendship Shayari)

आशा है आपको हमारा लेख जरूर पसंद आया होगा अगर हमारा लेख आपको पसंद आया तो

इसको जरूर लोगों के बीच में शेयर करें अपने साथियों के बीच में शेयर करें व्हाट्सएप में शेयर करें फेसबुक में शेयर करें धन्यवाद

Gulzar Quotes on Dosti (Friendship Shayari)

Also Read: Gulzar Quotes | Gulzar Shayari | Gulzar Quotes on Zindagi